• Kumar Vivek Garg

आँखों में पानी

आँखों में पानी है, ज़रूर कोई कहानी है, अपनों से बिछड़ने का ग़म है, मन चाही मंजिल को पाने मे, खोए हसीन लम्हों की यादें हैं, घर दूर होने का डर है, माँ के हाथों के पाक की महक है, कोई अधूरी सी चाहत है, चढ़ती जवानी का प्रेम  है, जुदा हुए प्रेमी की निशानी है, ज़रूर कोई कहानी है, आँखों में पानी है, ज़रूर कोई कहानी है, आँखों में पानी है।

1 view